Breaking News

Breaking News WattsApps-7709529697

"येथे कोल्हार परिसरातील न्युज आपणाकडून स्वीकारली जाईल. सदर वेबसाईट व्हाट्सअप नंबर 15/10/2019, 12.00 A.M पासुन लाईव्ह झाली आहे."

slide show

WhattsApp Status For You


Click ->
Click ->

Business Loan Maff Hone Ke Liye Nivedan Form

बिज़नेस लोन माफ़ होने के लिए निवेदन फॉर्म

नमस्कार मित्रो,
टिप- मोबाइल मै पढ़ने के लिये Mobile View Option Select करे . 
मै भारत देश का नागरिक हुँ।  मेरा महाराष्ट्र मे छोटासा कपडे का रिटेल का दुकान है।  दोस्तों आज मै एक ऐसे विषय पर रौशनी डाल रहा हु, जिससे काफी लोगो को परेशानी हो सकती है।  लेकिन मुझे इस बात को भारत सरकर, भारत देश की न्याय पालिका, और हमारे प्रिय प्रधान मंत्री जी माननिय नरेंद्र मोदी जी को और सभी स्टेट गवरमेंट के कानो तक पोहचानी है।

मित्रो, क्या आपको खेती हे, क्या आपको घर हे, क्या आपको घर और खेती दोनों नहीं हे. आपको लगता होगा की ये सब क्यों पुछ रहे हो !

हमारे देश में ऐसे कई सारे लोग हे जिनको खेती नहीं हे। फिर भी वो छोटा मोटा बिज़नेस करते है। अपना बिज़नेस डालने के लिए या बढ़ाने के लिए वो लोग प्राइवेट नहीं तो गवरमेंट बैंक का लोन लेते हे। तब लोन लेते समय खेती न होने के कारन घर पर ही कर्ज लेते हे।  जिन लोगो के पास अपना पक्का घर नहीं होता, उन लोगो को तो बोहोत सारी परेशानियोका सामना करना पड़ता है।  इसमे कई सारे लोगो के पास तो खुद का घर भी नहीं होता।  तो वो लोग प्राइवेट बैंक या फाइनेंस के और से लोन लेते हे।  क्यों की सरकारी बैंक तो उनको लोन ही नहीं दे पाति। 


ये सभी लोग लोन (LOAN ) लेके कुछ छोटा मोटा बिज़नेस डालते हे।  अब मुझे एक बात बताई ये की क्या सभी लोगो का लोन पर बज़नेस सक्सेस होता हे क्या ? वो बेचारा हमेशा लोन के  EMI (हप्ता) भरने के परेशानी में महीनाभर रहता हे।  मेरी सरकार से बिनंती हे की वो ऐसे लोगो का फाइनेंस का कर्जा माफ़ करे. जिससे उनकी अकाउंट का क्रेडिट स्कोर बचा रहे।  आज बड़ी बड़ी कंपनी को मार्किट का नुकसान उठाना पड़ रहा हे , तो ये बिचारे कहा  से इतने ज्यादा ब्याज वाले फाइनेंस का हप्ता भर सकते हे।  सरकार  ने तो कई लोगो  का कर्ज माफ़ किया बोहोत अच्छी  बात हे।  करना भी चाहिए था।  लेकिन जरा सा उन लोगोका भी तो सोचो जिनको खेती बाड़ी नहीं हे।  आज तक कभी कोई माफ़ी नहीं मिली किसी का आधार नहीं। आज मै खुद संकट में हु।  हमें तो आज तक कोई भी सरकारी स्किम का फायदा नहीं हुवा।  मेरे ऊपर प्राइवेट फाइनेंस का ५००००० और पतसंत्ता का १००००० का कर्ज हे।  और मार्किट के भरोसे लिया था लेकिन आज मार्केट पुरा ख़राब चल रहा हे, तो में हप्ता कहा से भरु, अगर मेरा ECS हप्ता बाउंस हो जाता है तो ६०० रूपये की पेनेल्टी ऊपर से ज्यादा मुझे ही भरनी पड़ती हे, और हम हमारे क्रेडिट कोर को लेके परेशान, अगर वो ख़राब हो गया तो हमें भीर कोईभी बैंक, फाइनेंस लोन नहीं देगा।

मेरे पास सिर्फ मेरा गांव वाला घर हे।  जो मैंने फाइनेंस को गारेंटर किया है।  अभी मै दुकान छोड़कर कोई नौकरी नहीं कर सकता क्यों की मेरा माल ख़राब हो जायेगा।  तो क्या ये हमारे ऊपर आपत्ति नहीं हे क्या। क्या हमे सरकार सिर्फ टैक्स, GST भरने के लिए रखा हे।  क्या कभी कोई माफ़ी नहीं हो सकती।  हम सिर्फ वोट करे।  हमें रोज खाने का पड़ा हे।  हप्ता कहासे भरे। 


जिस बिज़नेस के भरोसे लोन लिया था, वो कस्टमर के चलते मुसीबत में आ चूका हे।  मोदी जी। 

मेरी सरकार से विनती हे की अगर आप हम जैसे लोगो का कर्ज माफ़ करते हो तो हम आने वाले चुनाव मै आपको ही वोट करेंगे. क्यों की आज खेती नहीं हे और उनके ऊपर लोन है। ऐसे भारत में कई सारे लोग होंगे। जो मेरे जैसे छोटे छोटे बिज़नेस करते हे।  जिनका हातपर ही पेट चलता हे। 

बड़े लोगों का मत करो साहबजी पर हमारे जैसे छोटे बिज़नेस वालो का करो जिनको खेती नहीं हे। और छोटा बिज़नेस लोन लिया है, ऐसे लोगो को बचायो सर।  नहीं तो वो भी किसान भाई की तराह आत्म हत्या करना शुरू करेगा।   

मुझे मालुम हे की इस मोहिम मै आप सभी भारतीय मेरे साथ हे।  
बिज़नेस लोन माफ़ होने के मोहिम मे हम आपके साथ है। अगर आप को लगता हे की हमारा या हम जैसे भाइयोका लोन माफ हो जाये तो फिर निचे आप आपका नाम भर के हमे सपोर्ट करे।  
ये फॉर्म आप आपकी मर्जी से भर रहे हो।

ताकि सरकार को मालुम पड़े की हम जैसे भी लोग इस देश मै रहते है।  सरकार को उनके लिए कुछ न कुछ करना चाहिए इस बिगड़ती स्थिति में।
कई सारे लोग समझते होंगे की हम भिक क्यों मांग रहे है, इसका उत्तर मेरे पास नहीं हे।  और मै देना भी नहीं चाहता, क्योकि इसके पहले कई सारे लोगो का कर्ज माफ हुवा है, उनके या हमारे मन मै  ये बात नहीं आयी। 
क्या आपको लगता हे की सरकार ने आपका लोन माफ़ करना चाहिए। 
तो फॉर्म भरने के लिए यहां क्लिक कीजिये 

मित्रो शेर करे।  ताकि ज्यादा से ज्यादा परिवार फॉर्म भर सके।  
कमेंट करे अपनी प्रतिक्रिया। 

 

No comments:

Post a Comment